फिक्स डिपॉजिट FD क्या होती है और इसके फायदे क्या होते हैं ?

0
248

फिक्स डिपॉजिट (FD) क्या होती है? 

हैलो दोस्तो कैसे हैं आप उम्मीद करता हूं कि आप सभी खैरियत और खुशहाल, होगें। स्वागत है आपका एक और जबरदस्त पोस्ट फिक्स डिपॉजिट (FD) क्या होती है।और इसके फायदे क्या होते हैं? तो दोस्तो यदि आप भी इसके बारे में जानने की चाहत रखते है। तो आज की यह हमारी पोस्ट आपके लिए बेहद ही खास और काम की साबित हो सकती है।तो दोस्तो आपको कभी ना कभी  फिक्स डिपॉजिट (FD) का नाम तो सुनने में जरूर आया होगा।

इसके अलावा आपने यह भी सुना होगा। कि आप इसमें इतनी रकम जमा करा दो( FD करा दो) और यह रकम इतने सालों में आपके डबल हो जाएंगी। और इस प्रकार जब आपके पास रकम जमा हो जाती हैं, तो आपके मन में जरूर एक ना एक दिन फिक्स डिपॉजिट(FD) का ख्याल जरूर आया होगा । इसलिए आप भी FD के बारे में संपूर्ण नॉलेज प्राप्त करना चाहते हैं। तो इस पोस्ट को पूरा एंड तक जरूर पढ़ें।

फिक्स डिपॉजिट (FD) क्या होती है?

तो दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि कोई भी आम आदमी अपनी तनख्वाह (सैलरी) में से कुछ ना कुछ  पैसे की बचत करता है, और इसी कोशिश (प्रैक्टिस) में लगा रहता है। कि उसकी रकम इकट्टी हो जाए। और न जाने कब किसी जरूरत पर काम आ जाए।

इसीलिए हम अपनी रकम को बैंक में जमा करा देते हैं। और इसी के साथ ही अच्छा ब्याज भी प्राप्त कर लेते है।
और किसी का निकलने का डर और ना ही टेंशन रहती है। और आपका पैसा खर्च होने से बच जाता है। और आपका पैसा एकदम सुरक्षित रहता है। इसलिए फिक्स डिपॉजिट(FD) सबसे सरल और भरोसेमंद मानी जाती है। तो फ्रेंडस मैं आपको बता दूं की  फिक्स डिपाजिट(FD) में आपके पैसे को एक निश्चित (फिक्स) समय के लिए जमा किया जाता है।

उस पर आपको अच्छा ब्याज भी मिल जाता है। जिसकी दर बचत आपके खाते (Bank account) में FD कराने पर जमा रकम पर पहले वाली ब्याज से काफी ज्यादा होती है। तो डियर फ्रेंड्स यदि आप भी फिक्स डिपॉजिट(एफडी) करबाना चाहते हैं।तो आप किसी भी बैंक(bank) से करवा सकते हैं। क्योंकि इंडिया के अंदर जितने भी बैंक हैं। उन सभी में फिक्स डिपॉजिट(एफडी) करने की सुविधा उपलब्ध है। तो दोस्तो फिक्स डिपॉजिट (FD) जैसा कि नाम से ही पता चलता है। कि एक fix time के लिए आपका पैसा जमा किया जाता है।और इसके अलावा मैं आपको बता दूं की अगर आप चाहते हैं तो fix समय से पहले अपनी रकम को निकाल भी सकते हैंl

यहां कोई इमरजेंसी आने पर आप FD को तुड़वा भी सकते हैं। और उसी के साथ फिक्स डिपॉजिट कितने समय की होती है। हमारे ऊपर निर्भर करता है। वैसे देखा जाए तो FD यानी फिक्स डिपाजिट लम्बे समय और कम समय दोनों के लिए होता है। तो मैं आपकी जानकारी के लिए बता देना चाहता हूं कि फिक्स डिपॉजिट कम से कम एक हफ्ते के लिए और अधिक से अधिक दस साल के लिए हो सकती है।

FD करवाने पर कितना ब्याज मिल सकता है ?

तो दोस्तों में आपको यह बता देना चाहता हूं, कि इंडिया में प्रत्येक बैंक की अलग-अलग ब्याज दर होती है। और यह व्याज दर छः परसेंट से नौ परसेंट सालाना के बीच में होती है। और सबसे अहम बात यह है कि जिस समय पर आपने FD करवाई हैं। उस समय पर जो ब्याज दर बैंक की चल रही होती है, वही व्याज दर आपको अंत तक मिलती है। और दोस्तों FD पर आपको कितना ब्याज दर मिलेगा,यह सब इस बात पर निर्भर करता है, कि आप कितने समय तक रकम जमा करा सकते हैं। यदि आप लंबे समय तक है फिक्स डिपॉजिट FD करवाना चाहते हैं, तो आपको बहुत ज्यादा प्याज मिलगी।

🔍 होम लोन कैसे लै? Home Loan लेने की A टू z पूरी जानकारी

FD करवाने के क्या फायदे होते हैं?

1. तो दोस्तों FD करबाने का सबसे बड़ा फायदा हमको यह होता है, कि इसमें आपको अच्छी प्याज दर के साथ-साथ फुल सुरछा मिलती है। और इसमें आपको किसी भी प्रकार की कोई भी जोखिम नहीं होती है। और इसमें आपको एक सुनिश्चित ब्याज मिलती है, चाहे मार्केट में कितना भी उतार-चढ़ाव आ जाएं। और इसमें आपका पैसा एकदम सुरक्षित रहता है।

2.  तो दोस्तो आपकी फिक्स डिपॉजिट(एफडी) पर जो भी व्याज आपको मिलता  है। उसे आप (मंथली) महीने पर या क्वार्टरली भी ले सकते हैं।

3. तो दोस्तों अगर आपको कोई इमरजेंसी आ जाए, तो आप FD के द्वारा लोन भी ले सकते हैं। इसमें आप अपनी FD के कुल रकम (टोटल अमाउंट) का 90% lone बहुत ही कम व्याज पर बड़ी आसानी से ले सकते है।

4.फिक्स डिपॉजिट (FD) कराने पर आपको इनकम टैक्स से भी छुटकारा मिल जाता है, 80c dedication से हमें 15000 तक की FD (फिक्स डिपॉजिट)पर किसी भी प्रकार का कोई भी टैक्स नहीं लगता हैं।

5. तो दोस्तों FD करबाने पर वरिष्ठ नागरिकों को अतिरिक्त ब्याज दर मिलता है। और ऐसे लोगों को लगभग सभी बैंक अतिरिक्त ब्याज दर प्रदान करते हैं।sbi FD प्लान में साधारण सिटीजन को एफडी पर 5.25 से लेकर 6. 25% ब्याज दर मिल जाती है। सीनियर सिटीजन हो तो उसके मुकाबले 6-6.75 प्रतिशत ब्याज दर आपको मिलता है।

6. तो दोस्तों बैंक में आपको reinvest का विकल्प आपको मिल जाता हैं। जिसकी सहायता (हेल्प) से आप FD की राशि को दुबारा से नए एफडी में इन्वेस्ट कर सकते हैं।

फिक्स डिपॉजिट (FD) ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन कर सकते हैं?
तो दोस्तों FD करबाने के 2 तरीके होते हैं एक तो ऑफलाइन दूसरा ऑनलाइन

1. ऑफलाइन > इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको बैंक में जाने की आवश्यकता होती है। फिर आपको बैंक में एक फॉर्म भरना होता है, जिसके अंदर आपको अपने आईडेंटीकार्ड या आधर कार्ड एड्रेस प्रूफ पैन कार्ड के साथ पासपोर्ट साइज की फोटो की आवश्यकता होती है। इन डॉक्यूमेंटो के साथ ही आपने जितने रु की FD करबाई है, उतनी ही रकम बैंक में जमा करानी होती है। बैंक में रकम जमा कराने के बाद आपको रिसिप्ट दे दी जाती है जिसे आपको संभाल कर रखना होता है।

🔍 UPI क्या होता है।और इसको कैसे उपयोग में लेते हैं?

2.ऑनलाइन > यदि आपके बैंक अकाउंट में इंटरनेट बैंकिंग सेवा उपलब्ध है। तो आप अपने घर बैठे ही बहुत आसान तरीके से FD करवा सकते हैं। इसके लिए आपको केवल इंटरनेट बैंकिंग में लॉगिन करना पड़ेगा। लोगिन करने के बाद आपको एफडी करने का ऑप्शन मिल जाता  है। जिस पर क्लिक करके आपको एक फॉर्म भरना होता है, फिर इसके बाद आप एफडी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

टि्वटर पर फॉलोअर्स कैसे बढ़ाए?

ओके क्रेडिट ऐप क्या है और कैसे यूज करते हैं?

समय से पहले FD तुड़वाने पर क्या नुकसान होते हैं?

तो डियर फ्रेंडस जैसा कि आप सभी जानते हैं। कि जब आप FD करवाते तो आपका पैसा एक निश्चित समय के लिए जमा कर दिया जाता है,जिस पर आपको अच्छी प्याज दर भी मिलती है। लेकिन इसी दौरान कोई इमरजेंसी आ जाती है, और आपके पास पैसे की कोई व्यवस्था नहीं होती है, तो ऐसे में आपको अपनी FD तुड़बानी पड़ती है। जिसके कुछ नुकसान भी होते हैं, जो आपको भुगतने पढ़ते हैं। जैसे कि समय से पहले अपनी FD तुड़बाने पर आपको पेलेंटी भरनी पड़ती है। और साथ ही आपको व्याज दर भी कम मिलती है।

प्रोफेशनल सफल Blogger कैसे बने

Online पैसे कमाने के Top 7 बेस्ट तरीके 2022

🔍 बैंक चैक बरने का सही तरीका क्या होता है?

🔍 SBI Bank se lone kaise Len 2022?

नोट >  तो दोस्तों में आपको यह बता देना चाहता हूं कि जब भी आपको ऐसा लगता है कि एफडी करवाने से पहले मुझे पैसे की जरूरत पड़ सकती है। तो आपको ऐसे में थोड़े थोड़े पैसे करके कई एफडी करवानी चाहिए। जैसे  आपके पास 600000 रु हैं तो आप उन्हें एक ही FD में जमा नहीं कराए। बल्कि दो से तीन FD में जमा कराएं। ऐसा करने से जब आपको  किसी इमरजेंसी में पैसों की जरूरत पड़ेगी तो आप एक FD को तोड़ कर अपना काम  बढ़िया तरीके से चला सकते है। और इसके होने वाले बड़े नुकसान से बच सकते है।

निष्कर्ष:

तो दोस्तों में आशा करता हूं कि आपको इस पोस्ट के माध्यम से फिक्स डिपॉजिट (FD) क्या होती है।और इसके क्या फायदे होते है? से रिलेटेड सारी जानकारी आपको बहुत ही बढ़िया तरीके से मिल गई होगी।अगर आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।ताकि उनको भी इससे रिलेटेड सारी जानकारी मिल सके।और इसी प्रकार कि जानकारियों को हासिल करने के लिए हमारी वेबसाइट www. techhum.in पर विजिट करें। मिलते हैं अगली पोस्ट में तब तक के लिए
धन्यवाद!

Previous articleUPI क्या होता है।और इसको कैसे उपयोग में लेते हैं?
Next articleInstagram को डार्क मोड में कैसे बदलें 2022?
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम Ajay Rajpoot है और मैं Kheragarh Utter Pradesh का रहने वाला हूं। दोस्तों में ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद दो साल blogging का course किया और मुझे Blogging के क्षेत्र में अच्छी जानकारी होने के बाद मैंने खुद का एक वेबसाइट क्रिएट किया है जिसका नाम है "Techhum.in" दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से ब्लॉगिंग, मेक मनी, मार्केटिंग, यूट्यूब, इंटरनेट, टिप्स एंड ट्रिक आदि से रिलेटेड जानकारी दी जाएगी. दोस्तों यदि आपको ब्लॉगिंग से रिलेटेड कोई भी सवाल या सहायता चाहिए तो आप हमें बेझिझक हमारी ईमेल आईडी पर कांटेक्ट कर सकते हैं। मैं आपकी पूरी सहायता करने की पूरी कोशिश करूंगा। धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here