GPS क्या होता है पूरी जानकारी 2022?

0
58

GPS क्या होता है पूरी जानकारी 2022?

हेलो दोस्तों स्वागत है।आपका फिर से हमारी ब्लॉग वेबसाइट मैं  तो दोस्तों इसमें मैं आपको जीपीएस से जुड़ी पूरी जानकारी बताने वाला हूं तो Friends इस आर्टिकल को पूरा लास्ट तक जरूर पढ़ें बिल्कुल भी Skip ना करें। तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं।

तो दोस्तों मैं आपको बता देना चाहता हूं। कि जीपीएस एक अंतरिक्ष आधारित उपग्रह नेविगेशन प्रणाली माना जाता है, और इसकी सहायता से सभी प्रकार के मौसम की स्थिति में स्थान और समय की जानकारी प्रदान कर सकते है। फिर चाहे वो धरती के किसी भी कोने में छिपा हो या स्थित हो यह प्रणाली पूरी दुनिया भर के सैन्य नागरिक और वाणिज्यिक उपयोगकर्ताओं को महत्वपूर्ण क्षमता प्रधान  करती है।

तो दोस्तों GPS एक ऐसी सेटेलाइट based navigation system होता है। जो कि बनी हुई होती है।और इसको 24 सेटेलाइट्स के नेटवर्क समूह के द्वारा जिन्हें की धरती के orbit में रखा गया होता है।

यूएस डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस के अकॉर्डिंग जीपीएस को मुख्य रूप से बनाया गया था मिलिट्री एप्लीकेशन में इस्तेमाल करने के लिए लेकिन (but) सन 1980 में सरकार ने इस सिस्टम को आम लोगों के उपयोग के लिए उपलब्ध करवा दिया था?

तो दोस्तों मैं आपको बता देना चाहता हूं कि GPS किसी भी मौसम में काम कर सकता है। वो भी दुनियां के किसी भी जगह मैं और 24 घंटे तक। और सबसे अहम बात यह होती है कि जीपीएस को उपयोग करने के लिए किसी भी प्रकार का सब्सक्रिप्शन फीस या सेटअप चार्जेस का भुगतान नहीं करना पड़ता है।

GPS की परिभाषा ?

तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि जीपीएस की फुल फॉर्म (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) होता है।

दोस्तों इसके अलावा मैं आपको बता दूं कि यह एक ऐसा सिस्टम है जो कि बना हुआ होता है। तीन चीजों से जो कि सेटेलाइट्स, ग्राउंड स्टेशनस और रिसीवरस और दोस्तों मैं आपको बता दूंगा इसमें सेटेलाइट्स एक तरह से तारों की तरह कार्य करते हैं जोकि कांस्टेलेशंस मैं होते हैं। वही ग्राउंड स्टेशंस उपयोग करता है Radar or इसकी सहायता से यह पता लग सके कि वह हसल असल में कहां पर मौजूद है। यह जानने के लिए किया जाता है।

उसमें एक रिसीवर होता है। जो कि आपके फोन के रिसीवर की तरह होता है, हमेशा सोना होता है उन सिग्नलस को जिन्हें की इन सेटेलाइट्स के द्वारा किया जाता है। यह रिसीवर ही तय करता है। कि वह असल में कितनी दूर मौजूद है। जब जो रिसीवर एक दूसरे को कैलकुलेट कर लेता है। उसकी डिस्टेंस को 4 या उससे ज्यादा सेटेलाइट से वह पूर्ण रुप से यह जान पाता है। कि वह असल में कितनी दूर स्थित है।

जीपीएस की फुल फॉर्म?

तो दोस्तों जीपीएस का मतलब ” ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम” होता हैं। और इसका उपयोग करके कोई भी अपनी खुद की पोजीशन की इंफॉर्मेशन कभी भी और कहीं भी आसानी से प्राप्त कर सकता है। वह भी बिना खर्चे के साथ।

जीपीएस का इतिहास ?

तो डियर फ्रेंड्स जीपीएस का उपयोग सबसे पहले यूएस डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस के द्वारा किया गया था जीपीएस Aksar  रेफर करता है अमेरिकन नेवीगेशन सिस्टम को जिसे की navstar कहां जाता है जिसे आप टाइम ग्लोबल नेवीगेशन सेटेलाइट सिस्टम (gnss),glonass,या GPS receiver किसी और के साथ कंफ्यूज ना करें।

दोस्तों इसको सन 1957 में सोवियत यूनियन ने लांच स्पूतनिक i सैटेलाइट जिससे कि इसकी सेटेलाइट की मदद से geo लोकेशन टेक्नोलॉजी प्राप्त किया जा सके सन 1960 में यूएस नेवी ने शुरुआत की submarunes को वो भी सैटेलाइट नेविगेशन के साथ जिससे कि बाद में ट्रांसिट सिस्टम का नेविगेशन हुआ। और इसके अलावा एक बहुत ही लंबे समय के लिए जीपीएस अवेलेबल हुआ करता था गवर्नमेंटल उपयोग के लिए वहीं बाद में जीपीएस को आम लोगों के लिए भी प्राप्त करवाया गया।

GPS को कब पब्लिश किया गया था?

थोड़ी देर दोस्तों जीपीएस को सन 1983 के  बाद से ही public कर दिया गया था। सन 1990 के शुरुआती दौर में जीपीएस सर्विस को originally partitioned किया गया था। इसके बाद स्टैंडर्ड  positioning सर्वेश (SPS) में जो कि मुख्य रूप से पब्लिश के लिए बनाया गया था। वही अब precise positioning सर्वेश (PPS) का उपयोग मिलिट्री में होने लगा।

GPS की बेसिक संरचना क्या होती है?

तो दोस्तों चलिए मैं आपको जीपीएस की बेसिक संरचना के बारे में बता देना चाहता हूं। GPS की 3 Block Configuration तो दोस्तों मैं आपको बताता हूं जीपीएस में यह तीन प्रमुख सेगमेंट्स होते हैं। चलिए फ्रेंड्स इसके विषय के बारे में जान लेते हैं।

Space Segment (जीपीएस सेटेलाइट्स)

बहुत से GPS सर लाइट्स को डिवेलप किया जाता है सेक्स six orbits मैं धरती के चारों ओर वो भी एल्टीट्यूड approximately 20,000 km (चार जीपीएस सेटेलाइट्स पर one orbit) मैं और यह move करती है। और उसके अलावा धरती के चारों ओर वो भी 12 hour इंटरवल्स में।

कंट्रोल सेगमेंट (ग्राउंड कंट्रोल स्टेशंस)

तो दोस्तों मैं आपको बता दूं कि ग्राउंड कंट्रोल स्टेशंस का रोल होता है मॉनिटरिंग कंट्रोलिंग और मेंटेनिंग करना। सेटेलाइट ऑर्बिट जिससे कि वह ध्यान रख सके की सेटेलाइट की डिवीजन ऑर्बिट से और साथ में GPS timing से वो टॉलरेंस लेवल के अंतर्गत हो।

User Segment(GPS receivers)

तो Friends में आपको बता दूं कि User Segment (GPS receivers) इनका काम होता है कि सेटेलाइट्स के द्वारा भेजी गई सिगनल्स को ये रिसीव करते हैं। इसलिए इन्हें जीपीएस रिसीवर कहा जाता है।

GPS का महत्व

जीपीएस या ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम एक ग्लोबल नेवीगेशन सेटेलाइट system होती है। जो भी प्राप्त करती है लोकेशन,वेलोसिटी,और टाइम सिंक्रोनाइजेशन।

इसके अलावा जीपीएस जोकि इस्तेमाल करती कम से कम 24 सेटेलाइट्स एक रिसीवर और एल्गोरिथम और इसकी हेल्प से सेलोकेशन प्रदान करती है और वैल्यू सिटी और टाइम सिंक्रोनाइजेशन वो भी air sea or लैंड ट्रैवल के लिए। और ये सेटेलाइट सिस्टम में मौजूद होते हैं।

Six earth सेंटर ऑर्बिटल planes जिसमें प्रत्येक में चार सेटेलाइट उपलब्ध होते हैं जीपीएस कार्य करता है सभी समय और करीब सभी प्रकार के weather कंडीशन में भी।

जीपीएस के उपयोग

1. लोकेशन  एक पोजीशन को पहचानना.

2. नेविगेशन  एक लोकेशन से दुसरे लोकेशन में जाना.

3. ट्रैकिंग  मॉनिटरिंग करना ऑब्जेक्ट या पर्सनल मोमेंट को.

4. मैपिंग दुनिया भर की मैप्स क्रिएट करना.

5. टाइमिंग. इसकी मदद से मुमकिन करना precise time measurements को.

जीपीएस आज की डेट में काफी ज्यादा यूज़फुल है भाई इसका उपयोग बहुत इंडस्ट्रीज में किया जाता है। और वो भी एक्यूरेट सर्विस तैयार करने के लिए और मैप्स तैयार करने के लिए किया जाता है।प्रेसिस टाइम मीजरमेंट्स लेने के लिए और पूरी दुनिया लोकेशन को ट्रैक करने के लिए और साथ ही नेविगेटिंग करने के लिए हमारे ट्रांसपोर्टेशन व्हीकल से.

जीपीएस क्या काम आता है?

1. इमरजेंसी रिस्पांस में जब कहीं पर भी इमरजेंसी या प्राकृतिक आपदा होती है। तब पहले रेसफाउंडर्स इस्तेमाल करती है जीपीएस का वह भी मौसम मैपिंग,फॉलोइंग और predicting करने के लिए और साथ ही इसकी मदद से इमरजेंसी परसौनल के ऊपर नजर उसकी सेफ्टी के लिए रखी जा सकती है।

2. एंटरटेनमेंट तो दोस्तों जीपीएस का प्रयोग बहुत सारे एक्टिविटी और गेम्स जैसे कि पोकेमोन को जियोकाचिंग मैं किया होता है।

3. हेल्थ और फिटनेस टेक्नोलॉजी में smartwatches और वेरेबल टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है ट्रैक करने के लिए आपके बिजनेस एक्टिविटी को जैसे कि कितने miles सपने रन किया.

4. कंट्रक्शन  इसका उपयोग locating equipment

मैं किया जाता है जिससे कि मीजरिंग और इंप्रूविंग asset allocation को बेहतर किया जा सके। जीपीएस ट्रैकिंग की मदद करता है और कंपलेंस कि उनकी रिटर्न on assets को बढ़ाने के लिए।

5. ट्रांसपोर्टेशन लॉजिस्टिक्स कंपनीज भी इंप्लीमेंट करती है। टेलीमेटिक्स सिस्टम्स जिससे की वो improve कर सके driver productivity और सेफ्टी को.

दूसरे इंडस्ट्रीज जहां पर जीपीएस का इस्तेमाल किया जाता है उनमें शामिल है कृषि ऑटोनोमस, व्हीकल, सेल्स,और services , मिलिट्री, मोबाइल कम्युनिकेशन, सिक्योरिटी ड्रोनेस और fishing।

जीपीएस का भविष्य

वैसे तो जीपीएस ने काफी ज्यादा बेहतरीन पर परफॉर्म किया है। पिछले वर्षों में.लेकिन जैसे जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ रही है और ऐसे में इन GPS technology में सिग्निफिकेंट improvements की बहुत जरूरत है।

यदि आप इंवस्टीगेट करें आजकल के सिस्टम की जरूरतों को बताओ आप पाएंगे कि हमें पहले के मुकाबले अधिक बेहतर कैपेबिलिटीज और फ्यूचर्स की जरूरत है, जिससे कि आने वाली भविष्य में जीपीएस में दोनों मिलिट्री और सिविल यूजर्स की जरूरतों को पूरा कर सके।

निष्कर्ष :-

आशा करता हूं कि आप को इस पोस्ट के माध्यम से “GPS क्या होता है” से रिलेटेड पूरी जानकारी आपको बहुत ही आसान तरीके से मिल गई होगी। अगर फिर भी आपको समझने में कोई दिक्कत आ रही है तो मुझे कमेंट करके पूछ सकते हो और दोस्तों यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप मुझे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया जैसे नेटवर्क पर शेयर जरूर करें। धन्यवाद!

Previous articleजियो फोन में हॉटस्पॉट कैसे चालू करें ? 2022
Next articleCIBIL Score क्या है? और यह किस प्रकार कार्य करता है?
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम Ajay Rajpoot है और मैं Kheragarh Utter Pradesh का रहने वाला हूं। दोस्तों में ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद दो साल blogging का course किया और मुझे Blogging के क्षेत्र में अच्छी जानकारी होने के बाद मैंने खुद का एक वेबसाइट क्रिएट किया है जिसका नाम है "Techhum.in" दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से ब्लॉगिंग, मेक मनी, मार्केटिंग, यूट्यूब, इंटरनेट, टिप्स एंड ट्रिक आदि से रिलेटेड जानकारी दी जाएगी. दोस्तों यदि आपको ब्लॉगिंग से रिलेटेड कोई भी सवाल या सहायता चाहिए तो आप हमें बेझिझक हमारी ईमेल आईडी पर कांटेक्ट कर सकते हैं। मैं आपकी पूरी सहायता करने की पूरी कोशिश करूंगा। धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here