Share Market Mein Invest Kaise K

0
194

Share Market Mein Invest Kaise Karen.

नमस्कार प्रिय दोस्तों, स्वागत है आपका फिर से एक और धमाकेदार आर्टिकल में प्रिय मित्रों आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताते वाले हैं  की “Share Market Kya Hai, market mein invest kaise karen” दोस्तों यदि आप इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर लास्ट तक जरूर पढ़िए तो चलिए दोस्तों आज की इस पोस्ट को शुरू कर लेते हैं।

Share Market Mein क्या है?

Share market में हर कोई अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकता है।but stock market मैं एक सफल निवेशक बनने और पैसा कमाने के लिए शेयर बाजार की नॉलेज होना अत्यंत आवश्यक है। अक्सर लोग शेयर मार्केट मैं निवेश करने से पहले दूसरे लोगो की सलाह लेना फसंद करते हैं। इसी कारण बस ज्यादातर लोग शेयर मार्केट मैं अपना पैसा लॉस कर देते हैं। अगर आप एक काबिल निवेशक बनकर शेयर बाजार से पैसा कमाना चाहते हैं तो प्रिय मित्रों सबसे पहले शेयर मार्केट के बारे सीखना होगा।

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए आपके पास किसी भी डिग्री का होना आवश्यक नहीं है। तो चलिए शुरू करते हैं एंड सीखते हैं की शेयर मार्केट मैं निवेश कैसे करें (share market mai investment kaise karen)
Share market मैं निवेश किसी ब्रोकर के जरिए ही किया जाता है।आप डायरेक्ट शेयर मार्केट के किसी भी शेयर को खरीद या बेच नही सकते है।

🔍 Mobile se kaise pata karen ki जमीन किसके नाम है 2022?

🔍 डिजिटल मार्केटिंग के क्या फायदे होते हैं?-

आज के समय में बहुत से ब्रोकर मूजूद हैं। अगर आप सोच रहे हैं की हम शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले किसी ब्रोकिंग फार्म से कॉन्टेक्ट करना होगा। प्रेजेंट में share market में निवेश करना बहुत आसान हो गाया है क्योंकी आज के समय पर सभी ब्रोकिंग फर्म्स के अपने मोबाइल एप्लीकेशन and बेवसाइट उपलव्ध है। आप अपने मनपसंद ब्रेकिंग फर्म के एप्लिकेशन को अपने फोन में डाउनलोड कीजिए और share bajare में निवेश करना शुरू कर दीजिए।

Share Market में निवेश करने के लिए क्या चाहिए?

Share मार्केट में निवेश करने के लिए आप के पास एक demat account and एक ट्रेंडिंग एकाउंट होना चाहिए। आप को बता दे कि अपने ट्रेंडिंग एकाउंट से शेयर को खरीदते और बेचते हैं।demet एकाउंट में आपके जरिए जो शेयर खरीदे जाते है उन्ही को रखा जाता है।

डीमेट Account किया होता है।

डीमेट अकाउंट (demat account) की फुल फॉर्म क्या होती है। (De- materilied account ) होता है।आपके द्वारा खरीदे गए शेयर बाजार शेयर को डीमेट अकाउंट में इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखा जाता है।

डीमेट account से पहले हर एक शेयर पहले फिजिकल रूप में रखा जाता था मतलब यह है कि हर एक शेयर के पेपर होते थे। डीमेट अकाउंट में शेयर की gavermant सुरछा म्यूचुअल फंड और बांड भी रखी जा सकती है। Demat account में शेयर को allready sebi के अकॉर्डिंग पर खरीदा ब बेचा जा सकता है। Demat account एक तरह का बिग स्टोर होता है। जहां आप अपने स्टॉक को de-materialized रूप में रख सकते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट (Trading Account क्या होता है

शेयर को बेचने और खरीदने के लिए ट्रेडिंग अकाउंट की आवस्कता होती है यानी कि ट्रेडिंग अकाउंट शेयर बाजार में ट्रेडिंग करते है। जब आप किसी ब्रोकिंग फार्म के अकॉर्डिंग trading account खोलते है तब आपको उस ब्रोकिंग फार्म के द्वारा यूजर ld or password दिया जाता है।

उसके बाद आप इस ब्रोकर की website या मोबाइल एप्लीकेशन को लॉगिन करके share market me share बेच और खरीद सकते हैं। ट्रेंडिंग एकाउंट डीमेट खाते में मध्यस्था का कार्य करता है में आपको एक एग्जांपल देकर समझाता हूं

सपोज करो की आप 20 शेयर खरीदना चाहते है तो सबसे पहले अपने सेविंग अकाउंट से पैसा Trading Account में ट्रांसफर करना होता है इसे हम ट्रेडिंग अकाउंट में फंड जमा करना कहते हैं, उसके बाद आप इस पैसे से शेयर की ट्रेनिंग कर सकते हैं।
संस्था को अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए वित्तीय मदद की आवश्यकता होती है Compney को जितने पैसे की जरूरत होती है संस्था द्वारा उतने पैसे के शेयर जारी किए जाते है।

Compney दो तरीके से पैसे लेती है पहला तरीका है एंगल इन्वेस्टर्स और दूसरा तरीका है Venture investors। जब आप कुछ शेयर खरीद लेते हैं तो आपको कुछ अधिकार मिल जाते हैं यानी आप कुछ लाभ प्राप्त हो जाता है इस अधिकार को हम अंश स्वामित्व का अधिकार भी कहते हैं।

Share bajar में निवेश करने के लिए जरूरी कागजात क्या होते हैं।

पैन कार्ड (PAN Card)

वित्तीय लेनदेन बाला कोई भी कार्य हो तो इसके लिए आपके पास पैन कार्ड का होना अत्यंत आवश्यक होता है यह तो सभी जानते ही हैं। स्टॉक मार्केट में अगर आप निवेश करना चाहते हैं तो एसके लिए पैन कार्ड की आवश्यकता होती है पैन कार्ड को भारतीय आयकर विभाग द्वारा जारी किया गया है इसमें 10 नंबर होते है इसे आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं।

🔍 फिट और स्वस्थ रहने के बेहतरीन टिप्स 2022

🔍 Ok credit app क्या होता हैं।और इसका उपयोग क्यों और कैसे करे?

केवाईस (KYC Documents)

वित्तीय क्षेत्र में केवाईसी का प्रयोग किया जाता है वित्तीय संस्था इसका प्रयोग कस्टमर तथा उनके पत्ते की पहचान को वेरीफाई करने के लिए करती है।

Share Market में ब्रोकर का चयन कैसे करें?

शेयर मार्केट में बिना किसी ब्रोकर के किसी भी स्टॉक एक्सचेंज से निवेश नही कर सकते हैं। अगर मेरे दोस्तो आप BSE (Bomboy Stock Exchange) और NSE के Share मे निवेश चाहिए तो इस के लिए आपको एक सफल और मजबूत ब्रोकर आवश्यकता होती है। यह एक स्पष्ट कंपनी की तरह होती है जैसे उदाहरण के तौर पर शेरखान, Angel broking indiabulls या आईसीआई इत्यादि। जब आपको ब्रोकरेज फर्म की नॉलेज होगी तभी आप ब्रोकर का चयन स्पष्ट रूप से कर पाएंगे।

ब्रोकिंग फर्म क्या होती है (Broking Frem kya hoti hai)

शेयर को बेचने और खरीदने का एक मात्र जरिया ब्रोकिंग फर्म ही होते हैं।बाजार में आपको हर प्रकार के ब्रोकरेज फर्म मिल जाएंगे और हर एक के अलग अलग नियम होते हैं।और इन नियमो के आधार पर ही अलग अलग शुल्क लिए जाते हैं।और यह प्राइस 0.1से0.5 हो सकते हैं।ब्रोकर फर्म दो प्रकार होते है।

प्रथम फुल टाइम ब्रोकर होता है जो टेलीफोनिक सेवा के साथ अन्य सुविधा भी प्रधान कराता है।और यह आपको शेयर मार्केट से जुड़ी हर प्रकार नॉलेज देते हैं। परन्तु ये 0.1से 0.10 परसेंट तक चार्ज लेते हैं।

दूसरा डिस्काउंटिंग ब्रोकर होता है।इसमें ब्रोकर केवल ट्रेडिंग का कार्य करते हैं। इसके अलावा वे आपको किसी भी प्रकार की कोई नॉलेज नहीं देते हैं। कुछ ब्रोकर फ्लैट रेट पर कार्य करते हैं।हर एक ब्रोकर को उसके टेलेंट के आदर पर चुना जाता है

इन्वेस्टमेंट करने दो तरीके होते हैं।

1 Intraday ट्रेडिंग

निवेश करने का प्रथम तरीका Intraday ट्रेडिंग होता है इस ट्रेडिंग में एक दिन में शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं अगर आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो ये शेयर मार्केट के बंद होने तक उसी रेट में स्वत बिच जाते हैं ।

2 Delevery Basa Trading

निवेश करने का दूसरा तरीका डिलीवरी बसा ट्रेडिंग होता है आप इसमें खरीदे हुऐ शेयरों को अपनी इच्छा के अनुसार लंबे समय तक रोक सकते हैं।आप इन शेयरों को कई महीनों या सालो के बाद बेच सकते हैं।
लिमिट ऑर्डर (Limit Order )

आप अपने शेयर खरीदते समय शेयर का भाव तय कर सकते हैं आप अपने शेयर का भाव तय करने के बाद लिमिट आर्डर करते हैं। जैसे हीआपके शेयर का भाव आता है तो आपका शेयर Buy हो जाएगा।

Example

एक व्यापारी एक कंपनी के 100 शेयर 150रूपये की दर से खरीदना चाहता है तो लेने का ऑर्डर 150 रु में लगायेगा ऑर्डर तभी निस्पादित होगा जब शेयर का दाम 150रू या उससे कम दर पर हो जायेगा।

Market Order

एक तरह का बजरी परमीशन होता है इसमें वर्तमान मूल्य के आदर बेचने ब खरीदने के निर्देश दिए जाते हैं market ऑर्डर को सॉफ्टवेयर में एक बटन द्वारा प्रकाशित किया जाता है और इसमें किसी प्रकार का mol भाव नहीं किया जाता है।

Example

जब ब्रोकर को संस्था के 100 शेयर खरीदने के ऑर्डर दिए जाते हैं
तो उस ऑर्डर को बाजार भाव के आधार पर लिया जाता है शेयर मार्केट की जो रेट होती है ब्रोकर को उसी के आधार पर खरीदने होते हैं

शेयर को खरीदना या बेचना

शेयर को खरीदना या बेचना इस विषय को लेकर आपके मन में कई सवाल गूंज रहे होंगे इसमें क्या होता है भाइयों मैं आपको बता दूं जब आप ब्रोकर का चयन कर लेते हैं तो आपको उनसे मिलते रहना जरूरी होता है और साथ ही स्टॉक मार्केट की पूरी जानकारी लेना बेहद जरूरी होता है वैसे आजकल मोबाइल में ही सारी जानकारियां मिल जाती हैं ।
आप जिस शेयर को बेचना चाहते हैं वह शेयर आपके डीमेट खाते में जरूर होना चाहिए जैसे ही आप अपने डीमैट खाते से शेयर को भेजेंगे तो उसके पश्चात आपकी डीमेट खाते में से शेर की संख्या कम हो जाएगी
जो शेयर तीसरे दिन भेजा गया था उसका मूल्य ब्रोकरेज दर को घटाकर सीधे आपके अकाउंट में आ जाएगा।

प्रिय दोस्तो आपको शेयर खरीदते समय दो बातों का ध्यान रखना चाहिए ( बाजार रेट और लिमिटेड रेट) इस ब्लॉक के जरिए हमने आपको लिमिट ऑर्डर और मार्केट ऑर्डर के बारे में बताया था

वैसे सोचा जाए तो इन शेयरों में जोखिम बेहद कम होता है जब आपको सही तरीका आ जायेगा तब आप इन रेट पर शेयर खरीद सकते हैं।
Share Market me inveting platform kya hota hai

सोशल मीडिया मार्केटिंग क्या है ? कैसे शुरुआत करें?

इंस्टाग्राम एप्लीकेशन से पैसे कैसे कमाए ?

Saving और Current Account में क्या अंतर होता है? 

इंडिया की टॉप online shopping website 2022

वर्तमान समय में शेयर मार्केटिंग में निवेश करना बहुत आसान हो गया है बाजार में ऐसे बहुत एप्लीकेशन आ चुके है जिनकी हेल्प से बड़ी आसानी से डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट ओपन कर सकते हैं।

चलिए हम आपको कुछ ऐसे ही एप्लीकेशन के बारे मे बता देते हैं।

• मोतीलालओसवाल मोबाइल ड्रेडिंग ऐप
• आईआईएफएल मार्केट
• 5 पैसा
• अपस्टॉक्स
• कोटक स्टॉक ट्रेडर ऐप
• Zerodha
• शेयर खान ट्रेडिंग ऐप

Share market निवेश करते समय ध्यान रखने योग्य बातें

शेयर मार्केट में निवेश करते समय निम्नलिखित बातों को ध्यान में रखना चाहिए

जब आप स्टॉक ब्रोकर द्वारा शेयर market में निवेश करते हैं तो आपके ऊपर अलग अलग शुल्क लगाए जाते है इसलिए आपको शेयर मार्केट में चार्जेस के बारे में पूरी जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है आप शेयर मार्केट में होने बाली riks से भली भांति परिचित होगे इस लिए आपको कंपनी के presant or future की रिपोर्ट देखकर ही निवेश करना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आज की इस पोस्ट के माध्यम से आप अच्छे से समझ गए होंगे की “Share Market Mein Invest Kaise Karen” दोस्तों यदि फिर भी अगर आपके मन में कोई सवाल या कंफ्यूजन है तो आप उसे कमेंट बॉक्स में लिखकर पूछ सकते हैं हम आपको उसका answer जरूर देंगे
धन्यवाद!

Previous articleअपने ब्लॉग में यूनिक आर्टिकल कैसे लिखें ?
Next articleWeb Server क्या है पूरी जानकारी हिंदी में 
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम Ajay Rajpoot है और मैं Kheragarh Utter Pradesh का रहने वाला हूं। दोस्तों में ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद दो साल blogging का course किया और मुझे Blogging के क्षेत्र में अच्छी जानकारी होने के बाद मैंने खुद का एक वेबसाइट क्रिएट किया है जिसका नाम है "Techhum.in" दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से ब्लॉगिंग, मेक मनी, मार्केटिंग, यूट्यूब, इंटरनेट, टिप्स एंड ट्रिक आदि से रिलेटेड जानकारी दी जाएगी. दोस्तों यदि आपको ब्लॉगिंग से रिलेटेड कोई भी सवाल या सहायता चाहिए तो आप हमें बेझिझक हमारी ईमेल आईडी पर कांटेक्ट कर सकते हैं। मैं आपकी पूरी सहायता करने की पूरी कोशिश करूंगा। धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here