TDS क्या है? जानिए पूरी जानकारी के साथ 2022

0
90

TDS क्या है? फुल जानकारी?

जैसा कि साथियों आप सभी लोगों ने ITR, income tax, form 16, TDS जैसे शब्दों के बारे में तो सुना ही होगा। और यह ऐसे शब्द है। जो कि आपको बार-बार सुनने के लिए मिलते भी होंगे और उनमें से TDS काफी महत्वपूर्ण शब्द बन गया है। और तो और आपने अपने आसपास में भी देखा होगा कि लोग बोलते रहते हैं। कि भाई मेरा इतना TDS कट गया है। और मुझे रिफंड में इतना TDS मिला है। एवं इनकम टैक्स फाइनल करने पर भी TDS मिल जाता है। इसलिए दोस्तों आज किस पोस्ट के अंदर हम इसी चीज के बारे में जानने वाले हैं। अगर आप लोग भी TDS के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल करना चाहते हैं।तो इस आर्टिकल में एंड तक बने रहना।

जानिए TDS की पूर्ण विवेचना?

जैसा के दोस्तों आप तो क्या कोई भी व्यक्ति इस के नाम से ही जान सकता है। कि यह एक टेक्स होता है। और यह इनकम सोर्स पर ही लागू किया जाता है। अगर हम दूसरे शब्दों में कहें तो आप यह तो समझ सकते हैं। कि यह इस प्रकार के टैक्स है। जो कि कर्मचारियों को उनकी सैलरी मिलने से पहले ही वसूला जाता है। इसलिए हम आपको एक अच्छा सा उदाहरण देते हैं। जैसा कि दोस्तों आप सभी लोग जानते ही होंगे कि जितनी सारी सरकारी नौकरियां होती हैं। और उन सभी नौकरियों में जितने भी पद होते हैं। उनके लिए अलग-अलग फिक्स महीने की सैलरी होती है।

यह बात हुई है कि जितनी सैलरी पहले से सबसे होती है। उतनी सैलरी किसी भी सरकारी कर्मचारी को मिलने ही पाती है।बल्कि कई प्रकार के टैक्स काटकर पहले से फिक्स सैनी जी से भी बहुत कम पैसे उसको मिल पाते हैं। हालांकि आपने अपने नजदीक में सरकारी कर्मचारियों से यह सुनने के लिए भी मिला हुआ कि भाई मेरी सैलरी तो 50,000 है। मगर TDS कटने के बाद वो केवल 45000 ही रह गई है। या फिर सैलरी 50000 है। और टीडीएस काटने के बाद चल से जारी रह गई है। तो कुछ इस प्रकार की TDS सरकारी कर्मचारियों से कटते रहते हैं। तो इस प्रकार आपको समझ आ गया होगा।

के जो पैसे सरकारी कर्मचारियों के काटे जाते हैं। वह टीडीएस के ही पैसे होते हैं। और यह पैसे कर्मचारियों को उनकी तनख्वाह मिलने से पहले ही कट कर लिए जाते हैं। कहने का मतलब है कि टीडीएस इस प्रकार का टैक्स होता है। जो कि सरकारी कर्मचारियों को उनकी तनख्वाह मिलने से पहले ही काटा जाता है। चाहे साथियों आप लोगों इनकम टैक्स भरने वाले लोगों की कैटेगरी में आते हो या फिर नहीं आते हो मगर आपकी नौकरी सरकारी है। तो आपकी सैलरी पर टीडीएस जरूर काटा जाएगा इसके सिवाय बहुत से प्राइवेट कर्मचारियों की सैलरी पर भी टीडीएस काट लिया जाता है।

TDS क्यों काटा जाता है ?

अब दोस्तों आप लोग इस बात को तो जानते ही होंगे कि हमारे भारत देश में टैक्स की चोरी काफी ज्यादा बढ़ चुकी है। ऐसे में हजारों लाखों लोग हैं। जो कि इनकम टैक्स भरने के दायरे में तो आते हैं। मगर टैक्स नहीं भर पाते हैं। या पर समय पर उनका टैक्स बढ़ता ही नहीं है। किसी चीज को कम करने के लिए भारत सरकार ने एक नया सिस्टम टीडीएस को लागू किया है। और एक ऐसा सिस्टम तैयार कर दिया है। जिससे कि देश के ऐसे नागरिक हैं। जिन लोगों की सैलरी अधिक होती है। या फिर जो इनकम टैक्स भरने वाले लोगों की कैटेगरी में आते हैं। उनकी सैलरी पर पहले से ही टैग लगाते हैं।

और उनको सैलरी मिलने से ही पहले उनकी सैलरी का एक ऐसा सरकार अपने पास में यानी कि टीडीएस के रूप में काट लेती है। जिसकी वजह से जिनकी सैलरी ज्यादा होती है। वह लोग जाकर भी टैक्स की चोरी नहीं कर सकते हैं। और अगर आप लोग इनकम टैक्स भरने वालों की कैटेगरी में आते हो या फिर नहीं आते हो इससे कोई भी फर्क नहीं पड़ने वाला है। यह आप सरकारी नौकरी करते हैं। या फिर किसी बड़ी प्राइवेट कंपनी में जॉब कर रहे हैं। तो आपकी सैलरी का कुछ हिस्सा पहले ही टैक्स के रूप में काटा जाएगा इसलिए ऐसे लोग जिंदगी सैलरी पर टीडीएस काट लिया जाता है।

ऐसे लोगों को टैक्स फाइल जरूर बनवानी चाहिए। जिसकी वजह से अगर वह इनकम टैक्स बनने की कैटेगरी में नहीं आते हैं। तो उनका जितना भी टीडीएस काटा जाएगा वहां उन्हें वापस मिल जाएगा या फिर मान लो अगर आप लोगों ने कम टैक्स भरने वालों की कैटेगरी में आते हो तो ऐसे में अगर आप के TDS बैलेंस में से उतने ही पैसे कट जाए जितनी आप को टेक्स्ट के चुकाने हो तो बाकी के पैसे आपके अकाउंट में ट्रांसफर हो जाते हैं। तो दोस्तों के लिए भी हम आपको एक एग्जांपल देते हैं। जैसा आप लोग मान लो आप किसी सरकारी विभाग में नौकरी कर रहे हैं।

आपकी 1 महीने की तनख्वाह ₹50000 है। मगर इसमें से 5000 टीडीएस के काट दिए जाते हैं। और आपको हर महीने ₹45000 ही मिलते हैं। और आप यहां पर यह भी मान लो कि अगर आपकी सैलरी पर कायदे से सिर्फ 1 महीने का 1000 ही टैक्स बनता है। तो आपको अपनी इनकम टैक्स फाइल बनानी पड़ेगी जिससे हर महीने आपके TDS के रूप में जो ₹5000 करते थे ना उनमें से केवल ₹1000 सरकार के पास जाएंगे और बाकी के ₹4000 आपके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएंगे।

लेकिन आप इनकम टैक्स फाइल नहीं बनवाओगे तो भले ही आपकी सैलरी पर एक टैक्स बनता हो या फिर बनता ही ना हो आपको टीडीएस के पैसों में से एक भी पैसा नहीं मिलने वाला है। सारे के सारे पैसे सरकार के पास ही पहुंच जाएंगे इसलिए आप चाहे तो उनके इंटेक्स बनने वाले लोगों की कैटेगरी में आते हो या फिर नहीं भी आते हो फिर भी आपको इनकम टैक्स फाइल जरूर बनवा नी पड़ेगी।

TDS रिटर्न कैसे लेते हैं ?

दोस्तों आखिर में आपके दिमाग में एक बार जरूर गूंज रहा होगा कि हमें तनख्वाह मिलने से पहले ही टीडीएस सरकार के द्वारा काट लिया जाता है। लेकिन अगर हमारा टीडीएस बहुत ज्यादा कट हो रहा है। और हम इनकम टैक्स भरने वाले लोगों की श्रेणियों में आते ही नहीं हैं। तो टीडीएस के पैसे कैसे वापस आएंगे उसके लिए हमें क्या-क्या करना पड़ सकता है। तो हम आपको यहां पर बता दें कि इसके लिए आपको केवल अपनी इनकम टैक्स फाइल बनवानी पड़ती है। जिसे आप ऑनलाइन या फिर अपने किसी भी जानकारी CA से बनवा सकते हो और हां साथियों जब आप लोग इनकम टैक्स फाइल बनवाएं।

तो उस वक्त आपको अपने सीए को TDS के बारे में जरूर बताना चाहिए और इसी वक्त सीए आपसे form16 भी मांगता है। जो कि आप जिस विभाग में काम कर रहे हैं उस विभाग से प्राप्त कर सकते हो यह form16 आपकी इनकम टैक्स फाइल बनाने के साथ ही लगता है। और उसी के आधार पर आप के जितने भी TDS के पैसे बनते होंगे वह सारे के सारे आपके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाते हैं।

🔍Debit Card से ऑनलाइन पेमेंट कैसे करें 2022?

🔍Fi Money Bank Account कैसे खोले?

आज आपने क्या सीखा?

जैसा दोस्तों आज किस पोस्ट के अंदर हमने आपको TDS के बारे में बताया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारी यह जानकारी बेहद पसंद आई होगी और काफी कुछ नया सीखने के लिए भी मिला होगा। आप अपना कीमती समय निकालकर हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आए इसके लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Previous articleTop 10 Online Business Ideas 2022
Next articleव्हाट्सएप के कुछ अनोखे फीचर्स 2022
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम Ajay Rajpoot है और मैं Kheragarh Utter Pradesh का रहने वाला हूं। दोस्तों में ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद दो साल blogging का course किया और मुझे Blogging के क्षेत्र में अच्छी जानकारी होने के बाद मैंने खुद का एक वेबसाइट क्रिएट किया है जिसका नाम है "Techhum.in" दोस्तों इस ब्लॉग के माध्यम से ब्लॉगिंग, मेक मनी, मार्केटिंग, यूट्यूब, इंटरनेट, टिप्स एंड ट्रिक आदि से रिलेटेड जानकारी दी जाएगी. दोस्तों यदि आपको ब्लॉगिंग से रिलेटेड कोई भी सवाल या सहायता चाहिए तो आप हमें बेझिझक हमारी ईमेल आईडी पर कांटेक्ट कर सकते हैं। मैं आपकी पूरी सहायता करने की पूरी कोशिश करूंगा। धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here